सिस्टम के साथ-साथ चलो मजे में रहोगे

सिस्टम के साथ-साथ चलो मजे में रहोगे
छात्र जीवन से ही सैकड़ों व्यंग्य लेख, कविताए/गजलें, समसामयिक लेख और कहानियां विभिन्न प्रतिष्ठित समाचार पत्र-पत्रिकाओं यथा-दैनिक आज, दैनिक जागरण; इलाहाबाद संस्करण, नवभारत टाइम्स; नई दिल्ली, गंगा जमुना; साप्ताहिक आदि में प्रकाशित। विभिन्न मंचों पर काव्य पाठ। सामाजिक जीवन से उपजी विभिन्न परिस्थितियों का एक नए नज़्ारिये से चित्रण करता यह व्यंग्य संग्रह। ज्ञातव्य है कि इनमें लेखक की कुछ रचनाए पहले भी अन्यत्रा प्रकाशित हो चुकी हैं। मगर आज की परिस्थितियों के हिसाब से ये व्यंग्य लेख भी करीब-करीब नए सिरे से पुनः लिखे गए हैं।


शिव कुमार राय का जन्म 13 नवम्बर, 1978 को गाजीपुर, उ.प्र. में हुआ। निम्न-मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे, शिव कुमार राय ने डाॅ. एम.एम.ए. अंसारी इंटर काॅलेज से हाईस्कूल परीक्षा सम्मानजनक अंको से उत्तीर्ण की तथा इण्टर की परीक्षा राजकीय इंटर काॅलेज से उत्तीर्ण कीं। तत्पश्चात् 1999 में बी.ए. व एम.ए.; संस्कृत साहित्यन्च्द्ध की परिक्षाएं उत्तीर्ण की। एल.एल.बी. के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी की। इस प्रकार, 2002 में UPSC में व्यापार कर अध्किारी एवं 2004 में न्च्च्ैब् में ट्रेजरी आॅपिफसर के पद पर रहकर कार्य किया। 2005 से 2008 तक आगरा व इलाहाबाद में व्यापार कर अध्किारी के पद को सुशोभित किया। 2007 में सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से भारतीय राजस्व सेवा मेें चयन व प्रशिक्षण के उपरांत दिल्ली में सहायक आयकर आयुक्त के पद पर आसीन हुए व वर्तमान में यहीं से अपना कर्तव्य भली भांति निभा रहे हैं।
संपर्कसूत्रा - मेल . ेीपआनउंततंप01/हउंपसण्बवउ, पत्राचार के लिए पता -
शिव कुमार राय, एल-502, गिरनार अपार्टमेंट्स, कौशांबी, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश, पिन - 201010.

Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good

Super Fast Shipping

Pustak Mahal will Provide Super Fast Shipping

  • Views: 226
  • Author: Shiv Kumar Ray
  • Product Code: 9810 N
  • Availability: In Stock
1 Product(s) Sold
  • INR 68.00
  • Ex Tax: INR 68.00

Tags: सिस्टम के साथ-साथ चलो मजे में रहोगे