Sharirik Aur Mansik Tanav

Sharirik Aur Mansik Tanav

शारीरिक और मानसिक   

तनाव 

क्यों होता है और कैसे बचें


एक बड़ी भूल जो डाॅक्टर करते हैं, वह यह है कि रोगी के 

षरीर के इलाज के समय मन की अवहेलना कर जाते हैं। 

वास्तविकता यह है कि मन और तन एक हैं। इसलिए इनका 

इलाज साथ-साथ ही होना चाहिए।                 -प्लेटो



आज की दुनिया में आदमी के लिए असंख्य अवसर, सुविधाएं एवं आसानियां कदम-कदम पर मौजूद हैं, पर आज की सम्पूर्ण सामाजिक संरचना इतनी जटिल और उलझन-भरी है कि वह तनाव और थकान से भर जाता है। उसका जीवन दूभर हो जाता है और कोई-न-कोई रोग जान को लग जाता है।

इस पुस्तक में डाॅ. सरूप सिंह मरवाह ने इस सबके कारण, लक्षण और पहचान का खुलासा किया है तथा बहुत ही आसान भाषा में शारीरिक और मानसिक तनावों के उपचार बताए हैं।

उन्होंने तनावों के इलाज में निश्चलता को महत्व दिया है। उनके मत में मन और शरीर को स्वस्थ रखने से हृदय रोग, रक्तचाप जैसी अनेक बीमारियां स्वतः ही दूर रहती हैं। उन्होंने इस पुस्तक में बहुत ही आसान एवं व्यावहारिक तकनीक तथा उपाय सुझाए हैं कि जिससे आम आदमी भी सहज में ही अपने घर या बाहर कहीं भी निश्चल होकर तनावों से मुक्त हो सके।

डाॅ0 हरीष वर्मा एम.डी.,एम.आर.सी.,साइको.(लंदन) के अनुसार, जहां यह पुस्तक मनोरोगियों के लिए एक वरदान सिद्ध होगी, वहीं स्वस्थ लोगों के लिए भी लाभदायक है। लेखक ने इसे अधिक प्रयोगात्मक और रचनात्मक बनाया है। चिंता, भय, वहम, थकान तथा अनेक तरह के मानसिक तनावों के अतिरिक्त सभी तरह के शारीरिक तनावों से छुटकारा पाने के लिए यह पुस्तक बहुत ही उपयोगी है। वास्तव में यह तन और मन को सदा स्वस्थ एवं सुंदर बनाए रखने वाली एक सच्ची मेडिकल गाइड है। डाॅ0 सरूप सिंह मरवाह ने चिकित्सा विज्ञान तथा मानव मनोविज्ञान के गहन एवं लम्बे अनुभवों के आधार पर इस पुस्तक को लिखा है तथा प्रामाणिक बनाया है।


Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good

Super Fast Shipping

Pustak Mahal will Provide Super Fast Shipping

  • Views: 63
  • Product Code: 8932 D
  • Availability: In Stock
0 Product(s) Sold
  • INR 100.00
  • Ex Tax: INR 100.00

Tags: Sharirik Aur Mansik Tanav